कोल्ड वॉर के बाद पहली बार मंडरा रहा परमाणु हमले का खतरा: राष्ट्रपति जो बाइडेन

बाइडेन ने कहा कि वह पुतिन को यूक्रेन संघर्ष में इस कदम से हटाने का रास्ता ढूंढ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘पुतिन जब यूक्रेन में परमाणु हमले की धमकी दे रहे होते हैं तो यह उनका मजाक नहीं होता है।’

मजाक नहीं कर रहे पुतिन, कोल्ड वॉर के बाद पहली बार मंडरा रहा परमाणु हमले का खतरा: राष्ट्रपति जो बाइडेन

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध में परमाणु हमले का खतरा बढ़ता जा रहा है। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि कोल्ड वॉर के बाद यह पहला मौका है जब न्यूक्लियर अटैक का खतरा मंडरा रहा है। बाइडेन ने गुरुवार को न्यूयॉर्क में डेमोक्रेटिक पार्टी के फंड रेजिंग इवेंट में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘1962 में कैनेडी और क्यूबा मिसाइल संकट के बाद हम पहली बार इस डर का सामना कर रहे हैं।’

बाइडेन ने कहा कि वह रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन को यूक्रेन संघर्ष में इस कदम से हटाने का रास्ता ढूंढ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘पुतिन जब यूक्रेन में परमाणु हमले की धमकी दे रहे होते हैं तो यह उनका मजाक नहीं होता है। आप देख रहे हैं कि यूक्रेन युद्ध में पुतिन की सेना अंडरपरर्फार्मिंग है। ऐसे में उन्होंने बायोलॉजिकल या केमिकल हथियारों के इस्तेमाल की भी आशंका जताई है।’

परमाणु हमले की आशंका के बीच बचाव की तैयारी
वहीं, यूक्रेन में कीव की नगर परिषद का कहना है कि वह राजधानी पर परमाणु हमले की आशंका के मद्देनजर बचाव केंद्र तैयार कर रही है जहां पोटेशियम आयोडीन की गोलियां उपलब्ध होंगी। परमाणु विकिरण के संपर्क में आने से पहले या फौरन बाद पोटेशियम आयोडीन की गोली का सेवन किया जाए तो यह थायराइड ग्रंथि की ओर से हानिकारक विकिरण के अवशोषण को रोकने में मदद कर सकती है।

Comments

  • No comments yet.
  • Add a comment